Don`t lose hope you never know what tomorrow will bring.

Knowledge Share Posts

Search
  • Dedicated to family members - परिवार के सदस्यों को समर्पित

    Category : General By : Anonymous
    Comments
    0
    Views
    16
    Posted
    30 Apr 2018

    Dedicated to family members (परिवार के सदस्यों को समर्पित)


    मैं बिस्तर में से उठा...
    अचानक छाती में दर्द होने लगा...
    मुझे... हार्ट की तकलीफ तो नहीं है. ..?
    ऐसे विचारों के साथ. ..मैं आगे वाले बैठक के कमरे में गया. ..मैंने नज़र की... कि मेरा परिवार मोबाइल में व्यस्त था...

    मैने... पत्नी को देखकर कहा...
    काव्या थोडा छाती में रोज से आज ज़्यादा दुखता है...
    डोक्टर को बताकर आता हूं. ..
    हा, मगर संभलकर जाना... काम हो तो फोन करना  (मोबाइल में मुंह रखकर काव्या बोली...

    मैं...ऐकटिवा की चाबी लेकर पार्किंग में पंहुचा.…

  • Papa ki betiya

    Category : General By : Anonymous
    Comments
    0
    Views
    66
    Posted
    06 Feb 2018

    Papa ki betiya

    एक गर्भवती स्त्री ने अपने पति से कहा"आप क्या आशा करते हैं लडका होगा या लडकी"।

    पति-अगर हमारा लड़का होता है तो मैं उसे गणित पढाऊगा,हम खेलने जाएंगे, मैं उसे मछली पकडना सिखाऊगा।

    पत्नी -"अगर लड़की हुई तो "?
    पति-अगर हमारी लड़की होगी तो
    मुझे उसे कुछ सिखाने की जरूरत
    ही नही होगी क्योंकि ,
    उन सभी में से एक होगी जो सब कुछ मुझे दोबारा सिखाएगी कैसे पहनना, कैसे खाना, क्या कहना या नही कहना।
     एक तरह से वो मेरी दूसरी मां होगी। वो मुझे अपना हीरो समझेगी चाहे मैं उसके लिए
    कुछ खास करू या ना करू।

    जब भी मै उसे …

  • Trust on God - Hindi Story जंगल में एक गर्भवती हिरनी बच्चे.

    Comments
    0
    Views
    21
    Posted
    12 Apr 2018


    जंगल में एक गर्भवती हिरनी बच्चे को जन्म देने को थी। वो एकांत जगह की तलाश में घुम रही थी, कि उसे नदी किनारे ऊँची और घनी घास दिखी। उसे वो उपयुक्त स्थान लगा शिशु को जन्म देने के लिये।

    वहां पहुँचते  ही उसे प्रसव पीडा शुरू हो गयी।
    उसी समय आसमान में घनघोर बादल वर्षा को आतुर हो उठे और बिजली कडकने लगी।

    उसने दाये देखा, तो एक शिकारी तीर का निशाना, उस की तरफ साध रहा था। घबराकर वह दाहिने मुडी, तो वहां एक भूखा शेर, झपटने को तैयार बैठा था। सामने सूखी घास आग पकड चुकी थी और पीछे मुडी, तो नदी में जल बहुत था।

    मादा ह…

  • Angry - गुस्सा

    Category : Motivational By : Anonymous
    Comments
    0
    Views
    101
    Posted
    06 Feb 2018

    Angry - गुस्सा

     "पितामह भीष्म के जीवन का एक ही पाप था कि उन्होंने समय पर क्रोध नहीं किया
     और
    जटायु के जीवन का एक ही पुण्य था कि उसने समय पर क्रोध किया...
    परिणामस्वरुप एक को बाणों की  शैय्या मिली
    और
     एक को प्रभु श्री राम की गोद..

          अर्थात
    क्रोध भी तब पुण्य बन जाता है जब वह धर्म और मर्यादा की रक्षा के लिए किया जाए
    और
    सहनशीलता भी तब पाप बन जाती है जब वह धर्म और मर्यादा की रक्षा ना कर पाये।"

  • परीक्षा लेने का निर्णय by God

    Comments
    0
    Views
    20
    Posted
    24 Apr 2018


    एक समय मोची का काम करने वाले व्यक्ति को रात में भगवान ने सपना दिया और कहा - कल सुबह मैं तुझसे मिलने तेरी दुकान पर आऊंगा !

    मोची की दुकान काफी छोटी थी और उसकी आमदनी भी काफी सीमित थी। खाना खाने के बर्तन भी थोड़े से थे। इसके बावजूद वो अपनी जिंदगी से खुश रहता था !

     एक सच्चा, ईमानदार और परोपकार करने वाला इंसान था। इसलिए ईश्वर ने उसकी परीक्षा लेने का निर्णय लिया !

    मोची मे सुबह उठते ही तैयारी शुरू कर दी। भगवान को चाय पिलाने के लिए दूध, चायपत्ती और नाश्ते के लिए मिठाई ले आया। दुकान को साफ कर वह भगवान का इं…