इस कर्म भूमि में फल के लिए श्रम सभी को करना पढ़ता हैं, ईश्वर सिर्फ लकीरें देता है, रंग हमे भरना पड़ता हैं |

Questions in "Jobs" Category