❝दुसरों की गलतियों से सिखों अपनें ही ऊपर प्रयोग करके सीखने को तुम्हारी आयु कम पड़ेगी |❞

Posts in "Education" Category

  • Hindi vyakaran shabd nirman prakar - शब्द निर्माण

    Category : Education By : Jaimahesh Team
    Comments
    0
    Views
    0
    Posted
    20 Mar 2019

    हिंदी व्याकरण | शब्द निर्माण | शब्द निर्माण के प्रकार | शब्द-रचना के प्रकार

    शब्द-रचना = शब्द रचना की द्रष्टि से हिंदी भाषा में तीन प्रकार के शब्द होते है

    • रूढ़
    • यौगिक
    • योगरूढ़

    यौगिक

    यौगिक शब्दों का निर्माण किसी शब्द में अन्य शब्द या शब्दांश का …

  • Hindi vyakaran shabd nirman pratyay - प्रत्यय

    Category : Education By : Jaimahesh Team
    Comments
    0
    Views
    0
    Posted
    20 Mar 2019

    प्रत्यय | प्रत्यय के प्रकार

    परिभाषा = जो शब्दांश के अन्त में लगकर उनके अर्थ में परिवर्तन या विशेषता उत्पन्न करते है | उन्हें प्रत्यय कहते है | जैसे = लघु +अव =लाघव लोहा+आर=लोहार

    संस्कृत के प्रत्यय

    तृ = दाता, वक्ता, कर्ता, नेता, भ्राता, पिता

    तव्य…

  • Hindi vyakaran visheshan - विशेषण

    Category : Education By : Jaimahesh Team
    Comments
    0
    Views
    0
    Posted
    20 Mar 2019

     हिंदी व्याकरण - विशेषण

    परिभाषा = जो शब्द संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता बतलाते है, उन्हें विशेषण कहते है | जैसे – तनु अच्छी लड़की है | मनु ने लाल साड़ी पहन रखी है | इन वाक्यों में अच्छी,लाल शब्द विशेषण है |

    विशेषण और विशेष्य = विशेषण शब्द जिस संज्ञा …

  • Hindi Vyakaran Parsarg Kaarak Kriya - परसर्ग

    Category : Education By : Jaimahesh Team
    Comments
    0
    Views
    0
    Posted
    20 Mar 2019

    परसर्ग | कारक | क्रिया | हिंदी व्याकरण

    परिभाषा – वाक्य संज्ञा या सर्वनाम के कारकीय सम्बन्ध को प्रकट करने वाले चिन्हों को परसर्ग कहते है |

    जैसे

    1. अध्यापक ने बालको को पाठ पढ़ाया |

    2. यह तनु की हिंदी पुस्तक है |

    कारक

    परिभाषा – संज्ञा या सर्वनाम क…

  • Hindi vyakaran shabd nirman upsarg - उपसर्ग

    Category : Education By : Jaimahesh Team
    Comments
    0
    Views
    0
    Posted
    20 Mar 2019

    उपसर्ग | उपसर्ग के प्रकार

    परिभाषा = जो शब्दांश के आरम्भ में जुडकर उसके अर्थ में परिवर्तन या विशेषता उत्पन्न कर देते है, वे उपसर्ग कहलाते है |

    हार एक शब्द है, इसके प्रारम्भ में आ, वि, प्र, उप, सम उपसर्ग जोड़ने से क्रमशः आ+हार=आहार,वि+हार=विहार,उप+हा…