गुरुब्रम्हा गुरुविष्णु गुरुदेवो महेश्वरा || गुरु साक्षात् परब्रम्ह तस्मय श्री गुरवे नमः ||

Posts in "Motivational" Category

  • चाणक्य के वाक्य - Chanakya niti quotes

    Category : Motivational By : Anonymous
    Comments
    0
    Views
    378
    Posted
    10 Sep 2015

    चाणक्य के वाक्य :-

    1. दुनिया की सबसे बड़ी ताकत पुरुष का विवेक और महिला की सुन्दरता है |

    2. हर मित्रता के पीछे कोई स्वार्थ जरुर होता है, यह कड़वा सच  है |

    3. अपने बच्चों को पहले पांच साल तक खूब प्यार करो | छ: साल से पन्द्रह साल तक कठोर अनुशासन और संस्कार दो | सोलह साल से उनके साथ मित्रता व्यवहार करो | आपकी संतति ही आपकी सबसे अच्छी मित्र है |”

    4. दुसरों की गलतियों से सिखों अपनें ही ऊपर प्रयोग करके सीखने को तुम्हारी आयु कम पड़ेगी |

    5. किसी भी व्यक्ति को बहुत ईमानदार नहीं होना चाहियें | सीधे वृक्…

  • एक बेटा और वृद्ध पिता - Motivational story

    Category : Motivational By : Anonymous
    Comments
    0
    Views
    397
    Posted
    31 May 2015

    एक बेटा अपने वृद्ध पिता को रात्रि भोज के लिए एक अच्छे रेस्टॉरेंट में लेकर गया।

     खाने के दौरान वृद्ध और कमजोर पिता ने कई बार भोजन अपने कपड़ों पर गिराया।

     रेस्टॉरेंट में बैठे दुसरे खाना खा रहे लोग वृद्ध को घृणा की नजरों से देख रहे थे लेकिन वृद्ध का बेटा शांत था।

     खाने के बाद बिना किसी शर्म के बेटा, वृद्ध को वॉश रूम ले गया। उसके कपड़े साफ़ किये, उसका चेहरा साफ़ किया, उसके बालों में कंघी की, उसे चश्मा पहनाया और फिर बाहर लाया।

     सभी लोग खामोशी से उन्हें ही देख रहे थे।

     बेटे ने बिल पे किया और वृद…

  • जिन्दगी में दो बाते हमेशा याद रखना..

    Category : Motivational By : Anonymous
    Comments
    0
    Views
    755
    Posted
    28 May 2015

    जन्म अपने हाथ में नहीं ;

    मरना अपने हाथ में नहीं ;

    पर जीवन को अपने तरीके से जीना अपने हाथ में होता है ;

    मस्ती करो मुस्कुराते रहो ;

    सबके दिलों में जगह बनाते रहो।

     

    जिन्दगी में दो बाते हमेशा याद रखना..

     

    जब गुस्सा आये तब कोई " फैसला " मत करना..

    और जब बहुत खुश हो तब कोई "वादा "मत करना..

  • Think positively- सकारात्मक सोच

    Category : Motivational By : Anonymous
    Comments
    0
    Views
    418
    Posted
    17 Jul 2016

    सकारात्मक सोच:-

    एक राजा के पास कई हाथी थे, लेकिन एक हाथी बहुत शक्तिशाली था, बहुत आज्ञाकारी, समझदार व युद्ध-कौशल में निपुण था। बहुत से युद्धों में वह भेजा गया था और वह राजा को विजय दिलाकर वापस लौटा था, इसलिए वह महाराज का सबसे प्रिय हाथी था। समय गुजरता गया ... और एक समय ऐसा भी आया, जब वह वृद्ध दिखने लगा। अब वह पहले की तरह कार्य नहीं कर पाता था। इसलिए अब राजा उसे युद्ध क्षेत्र में भी नहीं भेजते थे। एक दिन वह सरोवर में जल पीने के लिए गया, लेकिन वहीं कीचड़ में उसका पैर धँस गया और फिर धँसता ही चला ग…

  • Inspirational Thoughts (पंडित जी का एक प्रर्रेक प्रसंग)

    Comments
    0
    Views
    273
    Posted
    17 Jul 2016

    Inspirational Thoughts (पंडित जी का एक प्रर्रेक प्रसंग)

    एक नगर
    मे रहने वाले एक पंडित जी की ख्याति दूर-दूर तक थी।
    पास ही के गाँव मे स्थित मंदिर के पुजारी का आकस्मिक निधन होने की वजह से,
    उन्हें वहाँ का पुजारी नियुक्त किया गया था।

      एक बार वे अपने गंतव्य की और जाने के लिए बस मे चढ़े,
    उन्होंने कंडक्टर को किराए के रुपये दिए और सीट पर जाकर बैठ गए।

      कंडक्टर ने जब किराया काटकर उन्हे रुपये वापस दिए तो
    पंडित जी ने पाया की कंडक्टर ने दस रुपये ज्यादा दे दिए है। पंडित जी ने सोचा कि थोड़ी देर बाद कं…