❝यदि आप सही है तो आपको गुस्सा होने की जरुरत नहीं और यदि आप गलत है तो आपको गुस्सा होने का कोई हक़ नहीं |❞

Posts in "Spiritual - Related to God" Category

  • Short Story for Money

    Comments
    0
    Views
    30
    Posted
    24 May 2017

    Short Story for Money 

    पुराने ज़माने की बात है। किसी गाँव में एक सेठ रहेता था। उसका नाम था नाथालाल सेठ। वो जब भी गाँव के बाज़ार से निकलता था तब लोग उसे नमस्ते या सलाम करते थे , वो उसके जवाब में मुस्कुरा कर अपना सिर हिला देता था और बहुत धीरे से बोलता था की " घर जाकर बोल दूंगा "

    एक बार किसी परिचित व्यक्ति ने सेठ को ये बोलते हुये सुन लिया। तो उसने कुतूहल वश सेठ को पूछ लिया कि सेठजी आप ऐसा क्यों बोलते हो के " घर जाकर बोल दूंगा "
    तब सेठ ने उस व्यक्ति को कहा, में पहले धनवान नहीं था उस समय लोग मुझे 'ना…

  • Death is inevitable "मृत्यु टाले नहीं टलती चाहे कितनी

    Comments
    0
    Views
    32
    Posted
    17 Jul 2016

     Death is inevitable "मृत्यु टाले नहीं टलती 

    भगवान विष्णु गरुड़ पर बैठ कर कैलाश पर्वत पर गए।
    द्वार पर गरुड़ को छोड़ कर खुद शिव से मिलने अंदर
    चले गए। तब कैलाश की अपूर्व प्राकृतिक शोभा
    को देख कर गरुड़ मंत्रमुग्ध थे कि तभी उनकी नजर
    एक खूबसूरत छोटी सी चिड़िया पर पड़ी।
    चिड़िया कुछ इतनी सुंदर थी कि गरुड़ के सारे
    विचार उसकी तरफ आकर्षित होने लगे।
    उसी समय कैलाश पर यम देव पधारे और अंदर जाने से
    पहले उन्होंने उस छोटे से पक्षी को आश्चर्य की
    द्रष्टि से देखा। गरुड़ समझ गए उस चिड़िया का अंत
    निकट है और यमदेव कैलाश से निकलत…

  • Full Faith in God

    Comments
    0
    Views
    181
    Posted
    17 Jul 2016

    Full Faith in God (पूर्ण विश्वास)

    कृष्ण भोजन के लिए बैठे थे। एक दो कौर मुँह में लेते ही अचानक उठ खड़े हुए। बड़ी व्यग्रता से द्वार की तरफ भागे, फिर लौट आए उदास और भोजन करने लगे।
              रुक्मणी ने पूछा," प्रभु,थाली छोड़कर इतनी तेजी से क्यों गये ? और इतनी उदासी लेकर क्यों लौट आये?"
              कृष्ण ने कहा, " मेरा एक प्यारा राजधानी से गुजर रहा है। नंगा फ़कीर है। इकतारे पर मेरे नाम की धुन बजाते हुए मस्ती में झूमते चला जा रहा है। लोग उसे पागल समझकर उसकी खिल्ली उड़ा रहे हैं। उस पर पत्थर फेंक रहे हैं। और…

  • Guru Purnima - Celebrate July 19, 2016

    Comments
    0
    Views
    76
    Posted
    19 Jul 2016

    Guru Purnima (गुरुपूर्णिमा)
    Guru Purnima - Celebrate July 19, 2016 

    | गुरुब्रम्हा गुरुविष्णु गुरुदेवो महेश्वरा |
      | गुरु साक्षात् परब्रम्ह तस्मय श्री गुरवे नमः |

    गुरु गोविंद दोनों खड़े किनको लागु पाय!!!
    बलि हारी गुरु आप की गोविन्द दियो बताय...

    हर साल आती गुरुपूर्णिमा,
    शिष्यत्व का जागरण कराती गुरुपूर्णिमा।
    गुरु स्मरण कराने आती गुरुपूर्णिमा,
    शिष्यों को उनके वादे याद दिलाती गुरुपूर्णिमा।

    शिष्य की निष्ठा का प्रमाण है गुरुपूर्णिमा,
    शिष्य की श्रद्धा की सम्पूर्णता है गुरुपूर्णिमा।
    सद्गुरु के वरदानों …

  • Bharti Sanskrati

    Comments
    0
    Views
    83
    Posted
    30 Jun 2016

    भारतीय संस्कृति

    अपने भारत की संस्कृति को पहचानें | अपने बच्चों को भी ये सब बताए |

    दो पक्ष - कृष्ण पक्ष, शुक्ल पक्ष

    तीन ऋण – देव ऋण, पितृ ऋण, ऋषि ऋण

    चार युग – सतयुग, त्रेतायुग, द्धापरयुग, कलियुग

    चार धाम – द्धारिका, बद्रीनाथ, जगन्नाथ, रामेश्वर धाम

    चारपीठ – शारदा पीठ (द्धारिका), ज्योतिष पीठ(जोशीमठ बदरीधाम), गोवर्धन पीठ(जगन्नाथपुरी), श्रंगेरीपीठ

    चार वेद – ऋग्वेद, अर्थवेद, यजुर्वेद, सामवेद

    चार आश्रम – ब्रम्हाचर्य, गृहस्थ, वानप्रस्थ, संन्यास

    चार अन्त:करण – मन, बुद्धि, चित, अहंकार

    पञ्…