आत्मविश्वास एक ऐसी शक्ति है| जो मुसीबतों के पहाड़ो को खोदकर रास्ता बना देती हैं |

Posts in "Spiritual - Related to God" Category

  • Shrinathji Temple in Nathadwara

    Comments
    0
    Views
    145
    Posted
    09 Jul 2015

    SHRINATHJI TEMPLE

    The Shrinathji temple, Nathdwara is dedicated to Lord Krishna. It is a Hindu temple. The temple of SHRINATHJI at Shri Nathadwara was built in the year 1728. Nathdwara means “gate of the Lord” or “doorway to the Lord. In the temple we can see a unique image of a lord Krishna, which has been made a single piece of black marble. Lord Shrinathji Temple is considered as a main pilgrimage centre by Vaishnavas. It is located in Nathdwara, approximately 48km to the north of Udaipur.

  • Shree Nath ji ke darshan ki mahima

    Comments
    0
    Views
    75
    Posted
    16 Jun 2015

    श्री नाथजी के दर्शनो की महिमा

    मंगला के किए मंगलमुखी बनो ।

    श्रंगार के किये सुखी बनो ।

    ग्वाल के किये बाल सगं खेल खेलो ।

    राजभोग के किये राजा बनो ।

    उत्थापन के किये उत्पीडंन न हो ।

    भोग के किये निरोगी बनो ।

    आरती के किये स्वार्थी न होये ।

    शयन के किये तो नित चैन होय ।

     

  • Lord Brahma Temple in Pushkar

    Comments
    0
    Views
    114
    Posted
    09 Jul 2015

    Jagatpita Brahma Temple is a situated at Pushkar in Rajasthan. Brahma Temple is the only temple dedicated to Lord Brahma in the entire country. The Pushkar Brahma Temple is located on the banks of the Pushkar Lake. The temple was built in the 14th century. It is a hindu temple.The temple is mainly built by marble and stone. the temple`s door is decorated with silver coins.

    In this temple, image of Lord Brahma with four hands and four faces sitting in a cross legged position. An image of Goddes…

  • Sribanke Bihari ji temple in Vrindavan-story

    Comments
    0
    Views
    63
    Posted
    28 Jun 2015

    Sribanke Bihari ji temple in Vrindavan-Story

    बहुत समय पहले की बात है वृन्दावन में श्रीबांके बिहारी जी के मंदिर में रोज पुजारी जी बड़े भाव से सेवा करते थे। वे रोज बिहारी जी की आरती करते , भोग लगाते और उन्हें शयन कराते और रोज चार लड्डू भगवान के बिस्तर के पास रख देते थे।

    उनका यह भाव था कि बिहारी जी को यदि रात में भूख लगेगी तो वे उठ कर खा लेंगे। और जब वे सुबह मंदिर के पट खोलते थे तो भगवान के बिस्तर पर प्रसाद बिखरा मिलता था। इसी भाव से वे रोज ऐसा करते थे।

    एक दिन बिहारी जी को शयन कराने के बाद वे च…

  • Your life will be successful

    Comments
    0
    Views
    181
    Posted
    30 Jun 2015

    Pray to god, life will be successful

    एक बार एक व्यक्ति किसी के घर गया और अतिथि कक्ष (Guest Room) मे बैठ गया।

    वह खाली हाथ आया था तो उसने सोचा कि कुछ उपहार (Gifts) देना अच्छा रहेगा। तो उसने वहा टंगा चित्र उतारा और जब घर का स्वामी आया, उसने चित्र देते हुए कहा, यह मै आपके लिए लाया हुँ।

    घर का स्वामी , जिसे पता था कि यह मेरी चित्र मुझे ही भेंट दे रहा है, सन्न रह गया...!!

    अब आप ही बताएं कि क्या वह भेंट पा कर, जो कि पहले से ही उसका है, उस आदमी को प्रसन्न होना चाहिए ??

    मेरे विचार से नहीं....

    लेकिन…