"भाग्य उनका साथ देता है जो हर संकट का सामना करके भी अपने लक्ष्य के प्रति दृढ रहते हैं...!!!"

Knowledge Share Posts

Search
  • Reet Question Paper 25

    Comments
    0
    Views
    1747
    Posted
    16 Oct 2017

    REET paper in Hindi language for social science syllabus. This paper will be helpful for your reet 3rd grade teacher exams  preparation and test your skills as well as level of your preparation. We have also tool to test your skills level.. go ahead best of luck.  

    • 1. सद्र-उस-सदूर किस विभाग का अध्यक्ष होता था ?
      (अ) दान विभाग (ब) रसद विभाग (स) कोष विभाग (द) सैन्य विभाग

    • 2. जहांगीर के शासनकाल में दीवान बना ?
      (अ) ग्यासबेग एतमादउद्दोला (ब) असम खां (स) अफजल खां (द) फाजिल खां

    • 3. भारत में किस मुग़ल श…

  • डॉ अंबेडकर Dr. Ambedkar GK Question

    Category : GK By : Anonymous
    Comments
    0
    Views
    1055
    Posted
    17 Oct 2017

     

    • 1. डॉ अंबेडकर (बाबासाहेब) मुंबई में साइमन कमीशन के सदस्य कब बने ?
      (अ) 1926 (ब) 1924 (स) 1928 (द) 1930

    • 2. डॉ अंबेडकर (बाबा साहेब) द्वारा विधानसभा में माहर वेतन बिल पेश कब हुआ ?
      (अ) 14 मार्च 1929 (ब) 15 मार्च 1929 (स) 16 मार्च 1929 (द) 17 मार्च 1929

    • 3. काला राम मंदिर मैं अछुतो के प्रवेश के लिए आंदोलन कब किया ?
      (अ) 01 मार्च 1930 (ब) 04 मार्च 1931 (स) 03 मार्च 1930 (द) 03 मार्च 1931

    • 4. डॉ अम्बेडकर को गोल मेज कॉन्फ्रंस का निमंत्रण कब मिला?
      (अ) 6 अगस्त 1929 (ब) 6 अगस्त 1931 (स) 6 अगस्त 1932 (द) 6…

  • Best & True Friend

    Category : General By : Anonymous
    Comments
    0
    Views
    59
    Posted
    02 Feb 2018

    एक बेटे के अनेक मित्र थे, जिसका उसे बहुत घमंड था। 
    उसके पिता का एक ही मित्र था, लेकिन था सच्चा । 
     
    एक दिन पिता ने बेटे को बोला कि तेरे बहुत सारे दोस्त है, उनमें से आज रात तेरे सबसे अच्छे दोस्त की परीक्षा लेते है। 
     
    बेटा सहर्ष तैयार हो गया। रात को 2 बजे दोनों, बेटे के सबसे घनिष्ठ मित्र के घर पहुंचे।
     
    बेटे ने दरवाजा खटखटाया, दरवाजा नहीं खुला, बार-बार दरवाजा ठोकने के बाद दोनो ने सुना कि अंदर से बेटे का दोस्त अपनी माताजी को कह रहा था कि माँ कह दे, मैं घर पर नहीं हूँ।
     
    यह सुनकर बेटा…

  • A Short Story - ​खाली पेट -​ (लघुकथा)

    Category : Motivational By : Anonymous
    Comments
    0
    Views
    76
    Posted
    04 Feb 2018

    ​खाली पेट -​ (लघुकथा)
     
    लगभग दस साल का बालक राधा का गेट बजा रहा है।
    राधा ने बाहर आकर पूंछा
    "क्या है ? "
    "आंटी जी क्या मैं आपका गार्डन साफ कर दूं ?"
    "नहीं, हमें नहीं करवाना।"
    हाथ जोड़ते हुए दयनीय स्वर में "प्लीज आंटी जी करा लीजिये न, अच्छे से साफ करूंगा।"
    द्रवित होते हुए "अच्छा ठीक है, कितने पैसा लेगा ?"
    "पैसा नहीं आंटी जी, खाना दे देना।"
    " ओह !! अच्छे से काम करना।"
    "लगता है, बेचारा भूखा है।पहले खाना दे देती हूँ। राधा बुदबुदायी।"
    "ऐ 
    लड़के ! पहले खाना खा ले, फिर काम करना।
    "नहीं आंट…

  • A Life Story - एक प्रसंग जिंदगी का

    Category : Motivational By : Anonymous
    Comments
    0
    Views
    107
    Posted
    04 Feb 2018

    एक प्रसंग जिंदगी का

    एक राजा बहुत दिनों से पुत्र की प्राप्ती के लिये आशा लगाये बैठा था,
    पर पुत्र नही हुआ।
    उसके सलाहकारों ने तांत्रिकों से सहयोग की बात बताई।
    सुझाव मिला कि किसी बच्चे की बलि दे दी जाये तो पुत्र प्राप्ती हो जायेगी।
    राजा ने राज्य में ये बात फैलाई कि जो अपना बच्चा देगा
    उसे बहुत सारे धन दिये जायेगे।
    एक परिवार में कई बच्चें थे, गरीबी भी थी,
    एक ऐसा बच्चा भी था जो ईश्वर पर आस्था रखता था
    तथा सन्तों के संग सत्संग में ज्यादा समय देता था।
    परिवार को लगा कि इसे राजा को दे दिया जाये
    क्योंकि ये कुछ का…