The world is the great gymnasium where we come to make ourselves strong.

Knowledge Share Posts

Search
  • Biography of Atal Bihari Vajpayee

    Category : General , Biography By : Anonymous
    Comments
    1
    Views
    280
    Posted
    31 Jul 2015

     Atal Bihari Vajpayee was the eleventh Prime Minister of India, first became Prime Minister in may 16-31, 1996. He served only 13 days as prime minister due to lack of numbers and failing to attract support from other parties. And a second time he again become a Prime Minister in March 19, 1998 to May 13, 2004. 

    About Atal Bihari Vajpayee Former Prime Minister of India

    Born :-           25 dec,1924 , Gwalior state

    Expire :-  16 Aug 2018 ( age 94 )

    Father:-          Krishna Bihari Vajpayee

  • Shree Ganesh ji ki aarti - श्री गणेश जी की आरती

    Comments
    0
    Views
    23
    Posted
    17 Sep 2017

    श्री गणेश जी की आरती


    जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा ।
    माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥
    जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा ॥
    एक दंत दयावंत, चार भुजाधारी ।
    माथे पे सिंदूर सोहे, मूसे की सवारी ॥
    जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा ॥
    अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया ।
    बांझन को पुत्र देत, निर्धन को माया ॥
    जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा ॥
    हार चढ़ै, फूल चढ़ै और चढ़ै मेवा ।
    लड्डुअन को भोग लगे, संत करे सेवा ॥
    जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा ॥
    दीनन की लाज राखो, शंभु सुतवारी ।
    कामना को पूर्ण करो, जग बलिहारी ॥
    जय गणेश, जय गणेश, जय गण…

  • Aarti shree Laxmi ji ki - लक्ष्मी जी की आरती

    Comments
    0
    Views
    39
    Posted
    22 Sep 2017

     श्री लक्ष्मी जी की आरती (Laxmi ji ki aarti)

    ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता |
    तुमको निशदिन सेवत, हर विष्णु विधाता || जय

    ब्रह्माणी रूद्राणी कमला, तू हि है जगमाता |
    सूर्य चन्द्रमा ध्यावत, नारद ऋषि गाता || जय

    दुर्गा रूप निरंजन, सुख सम्पति दाता |
    जो कोई तुमको ध्यावत, ऋद्धि सिद्धि धन पाता || जय

    तू ही है पाताल बसन्ती, तू ही है शुभ दाता |
    कर्म प्रभाव प्रकाशक, भवनिधि से त्राता || जय

    जिस घर थारो वासो, तेहि में गुण आता |
    कर न सके सोई कर ले, मन नहिं धड़काता || जय

    तुम बिन यज्ञ न होवे, वस्त्र न कोई पाता |
    खान …

  • Story of Guru Purnima - गुरुपूर्णिमा

    Comments
    0
    Views
    9
    Posted
    01 Aug 2018

    "गुरु गूंगे गुरू बावरे गुरू के रहिये दास "

    एक बार की बात है नारद जी विष्णु भगवानजी से मिलने गए !
    भगवान ने उनका बहुत सम्मान किया ! जब नारद जी वापिस गए तो विष्णुजी ने कहा हे लक्ष्मी जिस स्थान पर नारद जी बैठे थे ! उस स्थान को गाय के गोबर से लीप दो !

    जब विष्णुजी यह बात कह रहे थे तब नारदजी बाहर ही खड़े थे ! उन्होंने सब सुन लिया और वापिस आ गए और विष्णु भगवान जी से पुछा हे भगवान जब मै आया तो आपने मेरा खूब सम्मान किया पर जब मै जा रहा था तो आपने लक्ष्मी जी से यह क्यों कहा कि जिस स्थान पर नारद बैठा था उस …

  • Pride and humility - अभिमान और नम्रता

    Category : Motivational By : Anonymous
    Comments
    0
    Views
    12
    Posted
    01 Aug 2018

            अभिमान और नम्रता    

          एक बार नदी को अपने पानी के प्रचंड प्रवाह पर घमंड हो गया
                  नदी को लगा कि ...
         मुझमें इतनी ताकत है कि मैं  पहाड़, मकान, पेड़, पशु, मानव आदि
         सभी को बहाकर ले जा सकती हूँ

         एक दिन नदी ने बड़े गर्वीले अंदाज में समुद्र से कहा ~ बताओ !
          मैं तुम्हारे लिए क्या-क्या लाऊँ ?
         मकान, पशु, मानव, वृक्ष जो तुम चाहो, उसे ... मैं जड़ से उखाड़कर ला सकती हूँ.

         समुद्र समझ गया कि ...
            नदी को अहंकार हो गया है
               
       उसने नदी से कहा ~  य…